त्वचा निखार के लिए बाजार मे मिलते फालतू केमिकल युक्त प्रोडक्ट बंध करके अपनाए ये घरेलू नुस्खे

हल्दी भारतीय मसालों का एक अहम् हिस्सा है। हल्दी का इस्तेमाल सौंदर्य उपचार के लिए भी किया जाता है। चेहरे की सेहत और निखार को बढ़ाने के लिए हल्दी का उपयोग किया जाता है। हम आज आपको हल्दी के कुछ घरेलू उपचार बताने वाले है। अगर आप भी हल्दी से अपने चारे का निखार बढ़ाना चाहते हो तो इस लरेख को अंत तक पूरा पढे। 

यदि आपको पिंपल्स की समस्या है तो एक चम्मच पीसी हुई हल्दी और दो बड़े चम्मच बेसन और शहद की कुछ बूंदे मिलाकर पेस्ट को तैयार करें। इस पेस्ट को स्क्रब की तरह चेहरे पर लगाएं और फिर पंदरा मिनट के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें। कुछ ही दिनों में पिंपल्स की समस्या दूर होगी। 

यदि चेहरे की त्वचा पर बाल अधिक है, तो कच्ची हल्दी और नारियल तेल का फेसपैक लगाकर इससे छुटकारा पा सकती हैं। इसके लिए नारियल तेल को गर्म करके उसमे थोड़ी सी कच्ची हल्दी मिलाएं और इसे चेहरे पर लगाकर अच्छी तरह सूखनें दें। सूख जाने के बाद गुनगुने पानी से फेसपैक को निकाल धो लें। 

यदि चेहरा का निखार कम हो गया है तो सर्दियों में एक चम्मच कद्दूकस की हुई कच्ची हल्दी में दूध या गुलाबजल मिलाकर पेस्ट तैयार करें, उसे लगाने के बाद करीब आधे घंटे बाद चेहरे को पानी से धो लें। इससे स्किन ग्लो करने लगती है। इसके अलावा कच्ची हल्दी का दूध पीने से ठंड के मौसम में सर्दी-खांसी नहीं होती और कच्चे हल्दी का पानी पीने से पेट और त्वचा दोनों साफ रहती है।

नींबू के रस में ब्लीच करने का गुण पाया जाता है, और हल्दी दमक को बढ़ाती है, नींबू के रस में मिला हल्दी पाउडर दाग़-धब्बों को कम कर एक समान रंगत दे सकता है। इस मिश्रण का हर रोज़ इस्तेमाल करने से चेहरे की रंगत एक समान नज़र आने लगती है। 

दूध में हल्दी मिलाकर लगाने से त्वचा को क्षति पहुंचानेवाले फ्री रैडिकल्स से लड़ने में मदद मिलती है। कच्चे दूध में हल्दी मिलाएं और चेहरे एवं गर्दन पर अच्छी तरह लगा दे. सूखने के बाद चेहरे को हल्के गर्म पानी से धो लें, इससे त्वचा खिली-खिली नजर आती है। 

हल्दी में कई ऐसे ऐंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो आपकी त्वचा को जवां और ताज़गी से भरपूर दिखा ते हैं। ऑलिव ऑयल आपकी त्वचा के लचीलेपन को बनाए  रखने मे मदद करता है। हल्दी पाउडर और ऑलिव ऑयल को मिलाएं और चेहरे एवं  गर्दन पर इसे एक समान लगाएं. कुछ देर इसे यूं ही छोड़ दें। नई कोशिकाओं के ग्रोथ के लिए हल्के हाथों से मसाज करें। इससे त्वचा सुंदर बनती है। 

बेसन और हल्दी का मिश्रण नैसर्गिक स्क्रब की तरह काम करता है और यह हर प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त माना जाता है। यह मिश्रण त्वचा पर कोमलता से प्रभाव डालता है। यह त्वचा से अतिरिक्त ऑयल निकालने मे मदद करता है। हल्दी पाउडर को बेसन में मिलाएं और थोड़ा पानी या गुलाब जल डालकर एक मिश्रण तैयार करे। उंगलियों से गोल-गोल घुमाते हुए इस मिश्रण को चेहरे पर मसाज करे। पंदरा से बीस मिनट बाद चेहरे को धो लें।

थोड़े से नीम के पत्तों को पानी में उबालकर पीस लें। इसमें एक चोंथई टीस्पून हल्दी मिलाएं और इस पेस्ट को पिंपल्स पर लगाएं। पैक को सूख जाने पर पानी से धो लें। बेहतर परिणाम पाने के लिए इस पेस्ट को हफ्ते में कम से कम दो बार पिंपल्स वाली जगह पर लगाने से जल्द ही फर्क महसूस होता है। 

हल्दी और एलोवेरा दोनों ही त्वचा को स्वस्थ रखने मे मदद करते हैं। आधा चम्मच हल्दी में दो चम्मच एलोवेरा मिलाकर पेस्ट बनाएं और इस मिश्रण को पिंपल्स पर लगाकर दस मिनट के लिए एसे ही छोड़ दें। फिर धो लें। रोज़ाना इसे लगाने से ही कुछ ही दिनों में त्वचा बेदाग हो जाती है।